मंगलवार

बोया पेड़ बबूल का तो आम कहाँ से होई

जय हो



पटना की धरती से पहला चैनल होने का दावा करने वाले एक देसी चैनल पर शुक्र का पूरा प्रभाव आ गया है ! शुक्र की महादशा का ही प्रभाव है की चैनल को अचानक अपन यहाँ इन्टर्नशिप के लिए आयी छह लडकियों का कार्यकाल पूरा होने से पहले ही निकाल बाहर करना पड़ा ! इतना ही नहीं चैनल के तीसमार खान का गिन्जन हो गया ! इलाज के लिए रांची भेजा गया पर वहां भी गिन्जन सो अब लेटर ... ले लो भाई लेटर ले लो ! चैनल के मालिक ने दरवाजे पर आवाज लगाना शुरू कर दिया ले लो भाई लेटर ले लो ! नहीं लिया तो दे दिया वही लेटर ! अब गिन्जन भाई की टोपी कौन बचाएगा ! अगले ने तो अपना मतलब साध ही लिया ! जिसको चाहा उसको शुक्र का प्रभाव बढ़ाने के लिए गिन्जन के मार्फ़त ज्वाइन करा दिया ! ले दे के जो बचे उसने भी शुक्र का प्रभाव नापने के लिए नाचना शुरू कर दिया ! नतीजा सुनेगे तो शर्म से पानी पानी हो जायेंगे भले ही चैनल वालो को शर्म नहीं आती है !

आपको बता दें कि यह चैनल पटना के हडताली मोड़ से दाहिने मुड़ने के बाद फिर बाएं जाकर बाएं मुड़ेंगे तो समझ जायेंगे कि यही वह जगह है जिसकी चर्चा कामदेव भी कर रहे है ! चैनल की खासियत यह है कि यहाँ बीते सप्ताह में सफाई कर्मचारी ने शिकायत की है कि देश में दूरदर्शन पर बच्चे ना पैदा करने के लिए जो विज्ञापन आता है उसका ही .... खोली भरा है ! सबके हाथ पाव फूल गया ! जांच हुई तो पता चला कि आईटी वालो की करतूत है ! ले भाई ... सबको लेटर ... जा भाई जा ... मज़ा अब बहार लो ... पर यहाँ तो हर शाख पर कामदेव बैठे हैं अंजामे चैनल क्या होगा ... बर्बाद चैनल करने को बस एक ही अक्कू काफी है सो अक्कू को लेटर !

अब समझो फ़िल्मी भैया ... कर दिया ना कमाल ... ले दे के लाफाशूटिंग कर दिया ना !लस घस ऐसा किया की गिन्जन , अक्कू , समेत दस को दस का दम दिखाना पड़ा ! खबर जंगल में आग की तरह फैली ... पता चला की ओवी वैन को भी गन्दा कर दिया था ! आईटी के साथ वाले कमरे को तो हाथी बगान बना दिया था ! राम राम ... एक बार फिर गंगाजल ... वैसे यह कहावत सच है कि ... बोया पेड़ बबूल का तो आम कहाँ से होई !

जय हो

गुरुवार

बिहार और बंगाल में आयी भीषण तूफ़ान

videoबिहार और बंगाल में आयी भीषण तूफ़ान में सरकारी जानकारी के मुताबिक सौ से अधिक लोंगो की जाने गयी है ! यह विजुअल आपको विचलित कर सकती है ! खुलासा टीम मृतकों की आत्मा की शांति के लिए लिए प्रार्थना करता है

बुधवार

नाक कटवाने वाले

जय हो

जनता दरबार से लेकर विश्वास यात्रा की घोषणा करने वाले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की मौजूदगी में एक विकलांग की सरेआम पिटाई और उसके शरीर के साथ टॉर्चर का जवाब कौन देगा ? आज देश की जनता यह जानने की कोशिश में जुटा है की क्या बिहार में अपंग होना अपराध है ... उसमे भी विकलांग द्वारा अधिकार की मांग कितना बड़ा अपराध है ... अधिकार की वजाय तिरस्कार से भड़के अब्दुल हमीद इस उम्मीद में आया था कि उसे विकलांगता प्रमाण पत्र मिल जाएगा तो ज़िन्दगी की राह थोड़ी आसान हो जायेगी ! अल्लाह ने जो किया वह तो हमीद झेल ही रहा है पर अपनी अपंगता का प्रमाण पत्र ( जिसे देख कर कोई भी समझ सकता है ) ऐसी बहरी व्यवस्था के लिए चाहिए था जो सिर्फ प्रमाण पत्र को ही जानता है !
हमीद आया सचिवालय गया तपती गर्मी में घंटो खड़ा होकर मुख्या सचिव से मिलने पहुंचा ! पर यहाँ की व्यवस्था भी नष्ट हो चुकी थी ! आम लोंगो की बात सुनने के निर्धारित समय में सचिव महोदय मीटिंग करने लगे थे ! असल में जब मीटिंग का टाइम होता है तो ये अधिकारी घर पर खाना खाने चले जाते है ! बहरहाल चीफ सेक्रेटरी के ना मिलने पर शोर गुल करने वाले हमीद को आंतकवादी की तरह ट्रीट कर पटना पोलिस और सचिवालय के सुरक्षा कर्मियों ने बाल पकड़ जो हश्र किया वह शर्मशार करने वाली घटना है !क्या नीतीश कुमार की सरकारी गाडी का फ्लैग स्टैंड टूटने से सरकारी व्यवस्था ध्वस्त हो गयी ! ( भले ही व्यवस्था पहले से ही नहीं है )
शर्म शर्म शर्म 

मंगलवार

मुल्लाओ ने कराई शानिया मिर्ज़ा की शादी




जय हो

इस देश में जो काम आप आसानी से खुद नहीं कर सकते उस को पूरा करने के लिए एक नया नुस्खा देता हूँ आपको कि अपने किस्से को किसी मिडिया वाले को बुलाकर दे दीजिये और घर में कम्बल तान कर सो जाइए आपके मामले को ये नारद के वंसज इतना बिगाड़ देंगे कि आपको खुद एहसास होगा कि किस चुतियापे में पर गया ! अब देखिये की शानिया मिर्ज़ा पाकिस्तानी से शादी करे या हिन्दुस्तानी से क्या फर्क पड़ता है ! भाई उसकी ज़िन्दगी वह तय करे कि वह कुंवारे से शादी कर रही है या शादी शुदा से... पर भाई टीवी वालो को बर्दाश्त नहीं हुआ कि उनको खाने का कार्ड नहीं मिला ... ऐसी व्यूह रचना कर दी की मुल्ला को उतरना पड़ा और आननफानन में शादी की रश्म पूरी कर दी ! 

गुरुवार

जब कोई बात बिगड़ जाए

जय हो



आप माने या ना माने पर यह सच है की जब कोई बात बिगड़ जाए तो जीना आसान नहीं रह पाता! अब देखिये ना भाई की बुलंदी ... कभी आसमान पर तो कभी खजूर पर ! जो कभी सलाम ठोकते थे आज उनको भाई सलाम ठोकता है ! आखिर भाई करे भी तो क्या ... ज़िन्दगी आसान नहीं रह गयी है ! भाई का भाई भी दुर्दीन का शिकार है ... भले ही भाई अपने बड़े भाई को नहीं जानता हो ... सब गोवा की माया है ...!पर भाई भी कम बड़े खिलाडी नहीं है ... मुंबई के डान भाई लोग भी पानी माँगा ... सलाम किया ... चाय पानी पूछा ... पर भाई के हाथ कमान क्या आया भाई ने बजा दिया ... सब की ... कोई बच नहीं पाया ... मौक़ा मिला और सबने ऐसा बजाया कि भाई सीधे अपने घर में गिरा ! फिर से उठने की कोशिश में जुटा और मटन पार्टी शुरू !
वैसे भाई बहुत बड़ा ज्ञानी है ... कद ज्ञानी जैल सिंह की तरह.. आप मिलिए ना बिना मर्ज पूछे आपको कई दवाई बता देगा कि किसको कैसे पटकना है ... ज्ञान की तो जय !स्टेसन पर लड़की के कारण झगडा किया और नसीहत किसी और को दिया ... माँ बहन हुआ ... तो कालर झाड चल दिया ... मैंने सुना ही नहीं ! बिलकुल गिन्जन की तरह ... मालूम है या नहीं गिन्जन आजकल दिल्ली में है .. बाट लगा दिया दिल्ली ब्रांड ने ... पता चला कि नयी एंकर को घर पर बुला कर ट्रेनिग दे रहा था पता चल गया .... रांची भेजा गया तो वहां पहले से काम कर रहे लोंगो को आपस में लड़ा दिया और पहले से काम कर रही एक लडकी को पटाने में लग गया है .... यह तो गिन्जन का खेल है तो वही भाई दिल्ली ब्रांड ने तो तूफ़ान मचा दिया है एक एंकर सब जगह जा कर उससे निजात पाने की बिनती कर रही है ... अब दिन में नहीं रात को बुलाता है ... कहता है कि बॉस ने कहा है मस्ती करने को !
तो जिन खोजा तिन पाइयां गहरे पानी पैठ ... पर यहाँ तो नाला में बैठ गंगा का मज़ा ले रहा है गुल्लर सब !

जय हो